ज्ञान के क्षेत्र में “गागर में सागर” दिखायेगा, गया जैव विविधता पार्क।

वन एवं पर्यावरण विभाग द्वारा डोभी में निर्माणाधीन जैव विविधता पार्क एक अलग अंदाज से तैयार किया जा रहा है।

पार्क में पर्यटकों की सुविधाओं का विशेष तौर पर ख्याल रखा गया है।

G.T road के किनारे निर्माणाधीन इस पार्क के अंदर कई महत्वपूर्ण चीजें दिखने को मिलेगी। जिससे बच्चें के मानसिक ओर बौद्धिक विकास की दिशा में मददगार साबित होगा। वहीं पार्क के अंदर जगह-जगह पर देश के कोने-कोने में पाई जाने वाली विभिन्न प्रजातियों के पेड़ व पौधे होंगे। कहा जाए तो जैव विविधता पार्क वानिकी के क्षेत्र में एक ग्लोब होगा।

ये पार्क फूल, पत्ती, पेड़, पौधों का महासंगम होगा। पर्यटकों सहित आम आदमी। जो थोड़ी बहुत भी पेड़ पौधों के बारे में थोड़ी बहुत भी रूचि रखते हैं। उनके ज्ञानव‌र्द्धन में ये पार्क “गागर में सागर” के समान होगा। इस पार्क के निर्माण में सरकार की एक कोशिश यह भी झलकती है कि देश के विभिन्न राज्यों के पेड़, पौधे, फूल आदि भले ही अलग अलग रंग रूप में होंगे। लेकिन, पार्क यह भी संदेश देने को तैयार है कि हम भारतवासी भले ही अलग-अलग रंग-रूप, जात-धर्म के हैं। लेकिन सभी जन एक हैं।

  • चलने पर पैरों को नहीं होगी तकलीफ : पार्क के अंदर कई ढंग से के रास्ते बनाए जा रहे हैं। फ्लोरल पाथ-वे के अलावा कई रास्ते पथरीले भी होंगे। लेकिन इन सभी रास्तों पर चलने पर पैरों को तकलीफ नहीं होगी। बल्कि एक गुदगुदी का अहसास कराते हुए रास्ते पार्क में घूमने के वक्त आपको रोमांचित कर देगा। जिसे बेहतर लुक देने का प्रयास किया जा रहा है। कई रास्तों में लाल पत्थर का उपयोग किया जा रहा है।
  • दृश्यावली भी होगा पार्क में : पार्क के अंदर पर्यटकों को समझने के लिए दृश्यावली भी लगे होंगे। दृश्यावली में तस्वीर के साथ-साथ उसके नाम भी लिखे होंगे। जिससे यहां आने वाले पर्यटकों को यहां की किसी चीज के बारे में समझने में कोई कठिनाई न हो। पार्क के हर भाग को दृश्य और उनके नाम से दर्शाया जा रहा है। लकड़ी के बोर्ड में नाम दर्शाया जा रहा है। वहीं, तस्वीर के माध्यम से लोगों के मन में उठने वाले जिज्ञासा को पूरा करने की कोशिश की जा रही है।
  • पार्क के अंदर रहेंगे अनेक भवन : पार्क के अंदर कई प्रकार के भवनों का निर्माण होना बाकी है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षा प्रहरी, वन पदाधिकारी , वन विभाग के कर्मचारी, पर्यटक और कार्य करने वाले कर्मचारियों के लिए पार्क के अंदर ही उनके ठहरने व रहने की व्यवस्था होगी। इसके लिए भवन का निर्माण कराया जाएगा।
  • पार्क मे बनाया गया हार्वेसटिंग टैंक : सूबे के अनूठे इस जैव विविधता उद्यान मे दो हार्वेस्टिंग टैंक बनाया गया है। जिसमें बरसात का पानी का जमा होगा। है। बरसात के पानी जो बेवजह बहकर नदी-नाले मे बह जाते थे। इसके लिए पार्क के अंदर दो टैंक बनाए गए हैं। जो बरसात के पानी को बर्बाद होने से रोकने का प्रयास है। जिससे जलस्तर बना रहेगा। इसके अलावा शेष पानी से फूल व पौधों का पटवन भी होगा।
  • छतरी का निर्माण : पार्क में भ्रमण के दौरान यदि आपको थोड़ी बहुत थकान सी महसूस होने लगेगी। तो चिंता करने की बात नहीं। आपको बैठने के लिए सुंदर तरीके से सजाए गए स्थल हैं। जिसके उपर आकर्षक छतरी लगाई जा रही है। जो पर्यटकों को धूप तथा बारिश से आपका बचाव करेगा। पार्क में छतरीनुमे पड़ाव स्थल को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

यह भी पढ़ें : गया एयरपोर्ट को किया जायेगा इंटरनेशनल लेवल का

Be the first to comment on "ज्ञान के क्षेत्र में “गागर में सागर” दिखायेगा, गया जैव विविधता पार्क।"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*