डेब्यू टेस्ट में शतक लगाने के बाद पृथ्वी शॉ के पैतृक गांव में जश्न का महौल। पढ़े पूरी खबर

भारतीय क्रिकेट टेस्ट टीम में पदार्पण करने के साथ डेब्यू मैच में शतक ठोंकनेवाले पृथ्वी शॉ बिहार के गया जिले के मानपुर के रहनेवाले हैं।मानपुर में पृथ्वी के दादाजी अशोक साव कपड़े की दुकान ‘बालाजी कटपीस’ चलाते हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ मात्र 99 गेंदों पर डेब्यू टेस्ट शतक जड़ने के बाद पृथ्वी के पैतृक गांव में जश्न का माहौल दिखा। लोग क्रिकेट मैच छोड़ कर सड़कों पर आ गये। पृथ्वी के कई प्रशंसक उनके दादा जी के घर पहुंच कर उन्हें बधाई दी और मिठाई खिलाई। साथ ही पटाखे फोड़ कर जश्न मनाया।

मानपुर निवासी अशोक साव के पुत्र पंकज शॉ के इकलौते बेटे पृथ्वी शॉ अब महाराष्ट्र के मुंबई में रहते हैं. वह मूलरूप से गया के मानपुर के पटवा टोली के निवासी हैं। अब भी यहां पृथ्वी के दादा-दादी के साथ परिवार के अन्य सदस्य रहते हैं। गुरुवार को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने जैसे ही पृथ्वी शॉ को टेस्ट कैप दिया, पूरा परिवार खुशी से झूम उठा।

पृथ्वी का टीम इंडिया के लिए चयनित होने पर पृथ्वी के दादा अशोक साव बधाई देने मुंबई भी गये थे। उस समय पृथ्वी ने इंग्लैंड में बढ़िया प्रदर्शन का भरोसा दिया था, लेकिन उन्हें इंग्लैंड दौरे पर मौका नहीं मिल सका। मालूम हो कि पृथ्वी शॉ ने 14 फर्स्ट क्लास मैचों में अब तक 56.72 रन की शानदार औसत से 1418 रन बनाये हैं। वह सात शतक और पांच अर्धशतक लगा चुके हैं।

 

Facebook Comments

Be the first to comment on "डेब्यू टेस्ट में शतक लगाने के बाद पृथ्वी शॉ के पैतृक गांव में जश्न का महौल। पढ़े पूरी खबर"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*