शुरू हुई चैती छठ पूजा की तैयारी, जाने कब है नहाय-खाय , खरना….

चैत महीना का सभी महीने में अलग महत्व होता है। हमारे बिहार में इस महीने में भी छठ का पावन पर्व मनाया जाता है। आपको बाते दें कि साल में दो बार छठ पर्व मनाई जाती है। आज हम आपको चैत छठ पर्व कब और किस तिथि भी मनाई जाएगी उसके बारे में बताएंगे। साथ ही इस महीने में मनाए जाने वाले इस पर्व का क्या होता है महत्व इसके बारे में भी बताएंगे। 

साल में दो बार छठ पर्व मनाई जाती है। एक चैती छठ पर्व और दूसरा कार्तिक छठ पर्व। हिंदू कैलेंडर के अनुसार चैत को नववर्ष के रूप में माया जाता है। इसलिए इस महीने को सबसे ज्यादा पावन माना जाता है। इस नए साल के षष्ठी तिथि को को छठ पर्व मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से यह मार्च-अप्रैल के महीने में आती है। होली के कुछ दिनों बाद मनाये जाने वाले इस पर्व को पूर्वी भारत (बिहार, झारखंड) और उत्तर भारत में कुछ हिस्सों में बड़ी ही श्रद्धा के साथ मनाया जाता है।

यह छठ पर्व भी कार्तिक छठ की तरह ही 4 दिनों तक मनाया जाता है। यह छठ भी नहाय खाय से शुरू होता है। 4 दिनों में नहाय खाय, खरणा, संध्या घाट और भोरवा घाट सम्मिलित है। इस साल इन तिथियों में मनाया जाएगा।

  • 21 मार्च 2018 : नहाय खाय छठ
  • 22 मार्च 2018 : खरणा छठ
  • 23 मार्च 2018 : चैती छठ, मुख्य दिन पहला अर्घ्य
  • 24 मार्च 2018 : पारण छठ पूजा

 

Facebook Comments

Be the first to comment on "शुरू हुई चैती छठ पूजा की तैयारी, जाने कब है नहाय-खाय , खरना…."

Leave a comment

Your email address will not be published.


*